कब आपकी आँखों में हमें मिलेगी पनाह

कब आपकी आँखों में हमें मिलेगी पनाह, चाहे इसे समझो दिल्लगी या समझो गुनाह, अब भले ही हमें कोई दीवाना करार दे, हम तो हो गए हैं आपके प्यार में फ़ना।

By | 2017-09-15T05:26:36+00:00 September 15th, 2017|Romantic Shayari|0 Comments

खुशबू की तरह आसपास बिखर जायेंगे सुकून बनकर दिल में उतर जायेंगे

खुशबू की तरह आसपास बिखर जायेंगे, सुकून बनकर दिल में उतर जायेंगे, महसूस करने की कोशिश कीजिये, दूर होकर भी आपके पास नजर आएंगे।

By | 2017-09-15T05:23:36+00:00 September 15th, 2017|Romantic Shayari|0 Comments

मेरे आँखों के ख्वाब दिल के अरमान हो तुम

मेरे आँखों के ख्वाब, दिल के अरमान हो तुम, तुम से ही तो मैं हूँ , मेरी पहचान हो तुम, मैं ज़मीन हूँ अगर तो मेरे आसमान हो तुम, सच मानो मेरे लिए तो सारा जहां हो तुम।

By | 2017-09-15T05:18:58+00:00 September 15th, 2017|Romantic Shayari|0 Comments