ऐ बारिश मेरे अपनो को यह पैगाम देना

"? ऐ बारिश मेरे अपनो को यह पैगाम देना ? ? खुशियों का दिन हँसी की शाम देना, ? ? जब कोई पढे प्यार से मेरे इस पैगाम को, ? ? तो उन को चेहरे पर प्यारी सी मुस्कान देना.. ?

By | 2017-09-09T08:56:05+00:00 September 9th, 2017|Rain-Barish Shayari|0 Comments

आज मौसम कितना खुश गंवार हो गया खत्म सभी का इंतज़ार हो गया

"आज मौसम कितना खुश गंवार हो गया, खत्म सभी का इंतज़ार हो गया, बारिश की बूंदे गिरी कुछ इस तरह से, लगा जैसे आसमान को ज़मीन से प्यार हो गया|"

By | 2017-09-09T08:50:35+00:00 September 9th, 2017|Rain-Barish Shayari|0 Comments

आज भीगी है पलके किसी की याद में आकाश भी सिमट गया हैं अपने आप में

"आज भीगी है पलके किसी की याद में आकाश भी सिमट गया हैं अपने आप में ओस की बूँद ऐसी गिरी है ज़मीन पर मानो चाँद भी रोया हो उनकी याद में.…"

By | 2017-09-09T07:57:39+00:00 September 9th, 2017|Rain-Barish Shayari|0 Comments