तुम भी चाहत के समन्दर में उतर जाओगे खुशनुमा से किसी मंजर पे ठहर जाओगे

"तुम भी चाहत के समन्दर में उतर जाओगे, खुशनुमा से किसी मंजर पे ठहर जाओगे । मैने यादों में तुम्हें इस तरह पिरोया है, मै जो टूटी तो सनम तुम भी बिखर जाओगे ॥"

By | 2017-09-13T07:17:45+00:00 September 13th, 2017|Miss You Shayari|0 Comments

जब रात को आपकी याद आती है सितारों में आपकी तस्वीर नज़र आती है

"जब रात को आपकी याद आती है सितारों में आपकी तस्वीर नज़र आती है खोजती है निग़ाहें उस चेहरे को याद में जिसकी सुबह हो जाती है !!"

By | 2017-09-13T07:14:39+00:00 September 13th, 2017|Miss You Shayari|0 Comments