हर दुआ कबूल नहीं होती हर आरज़ू पूरी नहीं होती

““हर दुआ कबूल नहीं होती हर आरज़ू पूरी नहीं होती जिनके दिल में आप जैसे लोग रहते हों उनके लिए धड़कन भी जरूरी नहीं होती!”
हैप्पी रोज डे । “

By | 2017-11-15T08:58:56+00:00 November 15th, 2017|Rose Day quotes|0 Comments