तुम इसे शिकवा समझ कर किस लिए शरमा गए

“तुम इसे शिकवा समझ कर किस लिए शरमा गए

मुद्दतों के बाद देखा था तो आँसू आ गए “

By | 2017-09-25T06:30:17+00:00 September 25th, 2017|Firaq Gorakhpuri|0 Comments