किन लफ्जों में लिखूँ मैं अपने इन्तजार को तुम्हें

“किन लफ्जों में लिखूँ मैं अपने इन्तजार को तुम्हें,
बेजुबां है इश्क़ मेरा ढूँढता है खामोशी से तुझे।”

By | 2017-09-09T07:08:03+00:00 September 9th, 2017|Intezaar Shayari|0 Comments